Type Here to Get Search Results !

[120+] Baat Nahi Karne ki Shayari in Hindi-2021

0

 

Baat nahi karne ki shayari : नमस्कार मित्रों आज हम आपके लिए एक ओर शायरी लेकर आएं हैं।

 

कई बार ऐसा होता है कि हम किसी से बात नहीं करना चाहते हैं ऐसे में आप हमारी शायरी को उस व्यक्ति को भेज सकते हैं।

 

तो अगर आप भी गूगल पर , baat nahi karne ki shayari in English and hindi, baat nahi karte shayari in hindi images, koi baat nahi shayari, wo baat nahi karte shayari, online hoke bhi baat nahi karte shayari सर्च कर रहे हैं तो आप हमारी पोस्ट को पढ़ सकते हैं।

 

अगर आपको हमारी शायरी अच्छी लगती है तो आप इसे अपने सोशल मीडिया पर शेयर भी कर सकते हैं।


                                 baat nahi karne ki shayari hindi

सबको गोली की तरह लगती है बातें_मेरी, इस का मतलब है अच्छा है निशाना मेरा.

 

Sabko goli ki tarah lagti hai baaten meri

Is ka matlab hai accha hai nishana Mera

baat nahi karne ki shayari hindi



baat nahi karne ki shayari urdu 

रूबरू होने की तो छोङिये, लोग ''गूफ्तगू" से भी कतराने लगे हैं

गुरूर ओढ़े हैं रिश्ते, अपनी 'हैसियत' पर इतराने लगे हैं

 

Rubaroo hone ki to chhodiye, log guftagu se bhi katraane lage hain

Guroor odhe hain rishte, apni haisiyat par itraane lage hain

baat nahi karne ki shayari urdu



baat nahi karni shayari 

मुझे तुमसे बात ही नहीं करनी

ऐसा कहकर वो call काट देते हैं

मैं मनाऊं उनको ऐसा सोचकर

मेरी कॉल का इंतजार करते हैं.

 

Mujhe tumse baat hi nahi karni

Esa kehkar vo call kaat dete hain

Main manaun unko aisa sochkar

Meri call ka intjar karte hain



 baat nahi karni shayari in hindi

बहुत सुकून मिलता है जब उनसे हमारी

बात होती है,

वो हजारो रातों में वो एक

रात होती है,जब निगाहें उठा कर देखते हैं

वो मेरी तरफ,तब वो ही पल मेरे लीये पूरी

कायनात होती है।.

 

Bahut sukoon milta hai jab unse hamari Baat hoti hai,

vo hajaaro Raton me vo ek Raat hoti hai,

Jab nigahein utha kar dekhte hain vo meri taraf,

Tab vo hi pal mere liye poori kayanat hoti hai

baat nahi karni shayari



jab koi baat na kare shayari 

आप हम से बात नहीं करते,

और हम आप के बिना,

कोई ख्वाब नहीं देखा करते।

 

Aap ham se baat nahi karte

Or ham aap ke bina

Koi khwab nahi dekha karte


 jab tumse baat nahi hoti shayari

मुझे एक ऐसा ताबीज चाहिये,

जो मुझे उससे मिला दे या फिर भुला दे

 

Mujhe ek aisa taavij chaahiye

Jo mujhe ussr mila de ya fir bhula de

baat nahi karni shayari in hindi



online hoke bhi baat nahi karte shayari 

बात तो वो आज भी करती है,

बस फर्क़ इतना है, कल हमसे करती थी,

आज किसी और से करती है।

 

Baat to vo aaj bhi karti hai

Bas fark itna hai, kal hamse karti thi,

Aaj kisi or se karti hai


 ab baat nahi hoti shayari

रूबरू होने की तो छोङिये, लोग गूफ्तगू से भी कतराने लगे हैंगुरूर ओढे हैं रिश्ते, अपनी हैसियत पर इतराने लगे हैं

 

Rubaroo hone ki to chhodiye, log guftagu se bhi katraane lage hain…. Guroor odhe hain rishte, apni haisiyat par itraane lage hain

jab koi baat na kare shayari



 baat nahi karne ki shayari in english

तेरा उल्फत कभी नाकाम होने देंगे,तेरी दोस्ती कभी बदनाम होने देंगे ,मेरी ज़िंदगी मैं सूरज निकले या निकले,तेरी ज़िंदगी मैं कभी शाम होने देंगे .

 

Tera ulfat kabhi nakam na hone denge,

Teri dosti kabhi badnam na hone denge

Meri jindagi me sooraj nikle ya na nikle teri jindagi me kabhi shaam na hone denge


 baat na karna shayari

मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना,कभी बात करने की हसरत कभी देखने की तमन्ना

 

Mat pucho kaise gujarta hai har pal tumhare bina, kabhi baat karne ki hasrat kabhi dekhne ki tamanna

jab tumse baat nahi hoti shayari



baat nahi karte shayari in hindi 

उससे ऐसा भी क्या रिश्ता है

दर्द कोई भी हो याद उसी की आती है

 

Usse Aisa bhi kya rishta hai

Dard koi bhi ho yaad usi ki aati hai


 baat nahi karte shayari in hindi images

उदास लम्हों की कोई याद रखना,

तूफ़ान में भी वजूद अपना संभालें रखना,

किसी की जिंदगी की खुशी हो तूम,

बस यही सोच तूम अपना ख्याल रखना।

 

Udaas lamhon ki na koi yaad rakhna

Toofan me bhi vajood apna sambhaalen rakhna

Kisi ki Jindgi ki khushi ho Tum

Bas yahi soch Tum apna khyaal rakhna

online hoke bhi baat nahi karte shayari



 baat nahi mante shayari

अपनी किश्मत उतनी रखिये जितनी अदा हो सके

अगर अनमोल होगये तो तनहा हो जाओगे

 

Apni kismat utni rakhiye jitni ada ho sake

Agar anmol ho gaye to tanha ho jaaoge


baat nahi hoti shayari 

मजबूर नहीं करेंगे तुम्हें बात करने के लिए, चाहत होती तो तुम्हे भी दिल करता बात करने का !

 

Majboor nahi karenge tumhe baat karne ke liye

Chaaht hoti to tumhe bhi dil karta baat karne ka

ab baat nahi hoti shayari



 baat nahi karna shayari

खुद का भी हाल देखने की फुरसत नहीं है मुझे….. और वो औरो से बात करने का इलज़ाम लगा रहे है……

 

Khud ka bhi haal dekhne ko fursat nahi hai mujhe

Or vo auron se baat karne ka iljaam laga rahe hain


 baat nahi karte shayari

आजवो कुछ रूठे-रूठे से है। दिल में कुछ बात छुपाए से हे,

 

Aaj vo kuch ruthe ruthe se hain.

Dil me kuch baat chhupay se hain

baat nahi karne ki shayari in english



 koi baat nahi shayari

दिल में आप हो और कोई खास कैसे होगा;

यादों में आपके सिवा कोई पास कैसे होगा;

हिचकियॉं कहती हैं आप याद करते हो;

पर बोलोगे नहीं तो मुझे एहसास कैसे होगा

 

Dil me aap ho or koi khaas kaise hoga

Yaadon me aapke siva koi paas kaise hoga

Hichkiyan kehti hai aap yaad karte ho

 


 baat na karne ke bahane shayari

मेरे दिल की दुनिया पे तेरा ही राज था।

कभी तेरे सीर पर भी वफाओ का ताज था।

तूने मेरा दिल तोडा पर पता चला तुझको।

क्योंकि टुटा दिल दीवाने का बे आवाज था।

 

Mere dil ki duniya pe tera hi raaj tha

Kabhi tere sir par bhi wafaon ka raaj tha

Tune mera dil toda par pata na chala tujhko

Kyonki tuta dil diwane ka be aavaj tha

baat na karna shayari



wo baat nahi karte shayari 

call करू तो उठती नहीं

wait करू तो आते नहीं,

jokes बताये तो मुस्कुराते नहीं,

क्या इतनी नफरत है मुझसे।

 

Call karu to uthti nahi

Wait karu to aate nahi

Jokes bataye to muskurate nahi

Kya itni nafrat hai mujhse


 

हिचकियाँ कहती हैं कि तुम याद करते हो

पर बात नहीं करोगे तो एहसास कैसे होगा….!

 

Hichkiyan kehti hain ki tum yaad karte ho…

Par baat nahi karoge to ehsaas kaise hoga

baat nahi karte shayari in hindi



 

नादान है बहुत वो..ज़रा समझाइए उसे

बात करने सेमोहब्बत कम नहीं होती.

 

Naadan hai bahut vo jara samjhaaiye use

Baat na karne se mohabbat kam nahi hoti


 

तेरे लहजे में लाख मिठास सही मगर,

मुझे जहर लगता है तेरा औरों से बात करना.

 

Tere lehje me laakh mithaas sahi magar,

Mujhe jehr lagta hai tera auron se baat karna

baat nahi karte shayari in hindi images



 

बरबाद कर देती है मोहब्बत

हर मोहब्बत करने वाले को,

क्यू कि इश्क़ हार नही मानता

और दिल बात नही मानता.

 

Barbaad kar deti hai mohabbat

Har mohabbat karne vaale ko

Kyon ki ishq har nahi maanta

Or dil baat nahi maanta


 

मोहब्बत का कोई कसूर नहीं ,

उसे तो मुझसे रूठना ही था ,

दिल मेरा शीशे सा साफ़,

और शीशे का अंजाम तो टूटना ही था

 

Mohabbat ka koi kasoor nahi

Use to mujhse ruthna ho tha

Dil mera sheeshe sa saaf

Or sheeshe ka anjaam to tootna hi tha

baat nahi mante shayari



 

ना जाने क्यों अब वो हमसे बात नहीं करते हैं, ना जाने क्यों अब वो हमें देखकर भी अनदेखा करते है।

 

Naa jane kyon ab vo hamse baat nahi karte hain,

Naa jane kyon ab vo hame Dekhkar bhi andekha kar dete hain


baat nahi karne ki shayari 

जिंदगी में कुछ लोग ऐसे भी होते है जो इश्क़ करना तो जानते है लेकिन अपने इश्क़ का बयान करने में बहुत घबराते हैं।

 

Jindagi me kuch log aise bhi hote hai jo ishq karna to jaante hai lekin apne ishq la bayaan karne me bahut ghabraate hain

baat nahi hoti shayari



 

Call तुम उठाते नहीं, बात तुम हमसे करते नहीं, क्या हम यह मान ले की अब हम तुम्हारे लायक नहीं।

 

Call tum uthaate nahi, baat tum hamse karte nahi,

Kya ham yah maan le ki ab ham tumhare laayak nahi


 

पता नहीं उन्हें क्या हो गया हैं, हर बार हमसे बात ना करने का बहाना बना लेते है।

 

Pata nahi unhe kya ho gaya hai,

Har baar hamse baat na karne ka bahana bana lete hain

baat nahi karna shayari



 

कैसे बयान करे अब आलम दिल की बेबसी का

वो क्या समझे दर्द इन आंखों की नमी का

चाहने वाले उनके इतने हो गए हैं कि

अब एहसास ही नहीं उन्हें हमारी कमी का

 

Kaise bayaan karen ab aalam dil ki bebasi ka

vo kya samje dard in aankhon ki nami ka

Chaahne waale unke itne ho gaye hain ki

Ab ehsaas hi nahi unhe hamari kami ka


 

तूने फेसले ही फासले बढाने वाले

किये थे वरना कोई नहीं था तुजसे

ज्यादा करीब मेरे

 

Tune faisle hi faasle badhane vaale kiye the, varna koi nahi tha tujhse jyaada karib mere

baat nahi karte shayari



baat nahi karne ki shayari image 

रोते हुए को हसाने की क्या सजा पा गया

मेरी जिंदगी की खुशी उसको मिली

और उसकी जिंदगी का हर गम मेरे हिस्से गया

 

Rote huye ko hasane ki kya saja paa gaya

Meri jindagi ki khushi usko mili

Or uski Jindagi ka har gham mere hisse aa gaya


 

उनसे बात नहीं होती

किसी और से बात

करने का मन नहीं करता

 

Unse baat nahi hoti

Kisi or se baat

Karne ka mana nahi karta

koi baat nahi shayari



 

बातें तो हर कोई समझ लेता है

मगर हम वो चाहते हैं

जो हमारी खामोशी को समझे

 

Baaten to har koi samajh leta hai

Magar ham vo chaahte hain

Jo hamari khaamoshi ko samjhe


 

कुछ दिन बात ना करने से कोई बेगाना

नहीं होता कोई भी दोस्त इतना पुराना

नहीं होता दोस्ती में गिले-शिकवे तो चलते

रहते हैं पर इसका मतलब दोस्तों को

भुलाना नहीं होता

 

Kuch din baat na karne se koi begaana nahi hota

Koi bhi dost itna Purana nahi hota

Dosti me gile-shikwe to chalte rehte hain

Par iska matlab doston ko bhulana nahi hota

baat na karne ke bahane shayari



 

कितना फर्क हैं ना हम दोनो की चाहत में

मुझे तुम्हे याद करने से फुर्सत नही और

तुम्हे मुझे याद करने की फुर्सत नही।

 

Kitna fark hai na ham dono ki chahat me

Mujhe tumhe yaad karne se fursat nahi or tumhe mujhe yaad karne ki fursat nahi


 

सिर्फ़ एक सफ़ाह पलटकर उसने,

बीती बातों की दुहाई दी है,

फिर वहीं लौट के जाना होगा,

यार ने कैसी रिहाई दी है

 

Sirf ek safah palatkar usne

beeti baaton ki duhai di hai

Fir vahi laut ke jaana hoga

Yaar ne kaisi rihai di hai

wo baat nahi karte shayari



aap baat kyu nahi karte shayari 

जलना लाज़मी है सनम रूठना भी जरूरी है

तेरा इश्क़ भी मेरा है तेरा हसन भी मेरा है

 

Jalna laajmi hai sanam ruthna bhi jaroori hai

Tera ishq bhi mera hao tera hasan bhi mera hai


 

बडे अजीब हो गये

लोग, बात नही मानते

लेकिन बुरा फौरन मान जाते हैं

 

Bade ajeeb ho gaye log,

Baat nahi maante

Lekin bura fauran maan jaate hain

baat nahi karne ki shayari



 

एक बार यू हुआ कि फिर कभी बात ना हुई,

वो जो कहते थे कभी आज बात ना हुई!

 

Ek baar yu hua ki fir kabhi baat na hui

Vo jo kehte the kbhi aaj baat na hui


 

मुझे तकलीफ देने वालों के लिए मेरी ख़ामोशी ही काफी है

 

Mujhey taklef dene walon k lliye meri khamoshi hi kafi hai..

baat nahi karne ki shayari image



 

जब यकीन टूटता है तो सब से पहले ज़ुबान चुप हो जाती है

 

Jab yaken toot ta hai toh sab sy pehlye zuban chup hojati hai..


 

किसी से रोज मिलने से लव हो या ना हो,

लेकिन किसी से रोज बात करने से उसकी आदत हो ही जाती है

 

Kisi say roz milnay sy love ho ya na ho but kisi sy roz baat karnye sy uski adat ho hi jati hai..

aap baat kyu nahi karte shayari



 

बात ही बात में बात बिगड़ जाती है,

इंसान की फितरत समझ में नही आती है.

 

Baat hi baat me baat bigad jaati hai

Insaan ki fitrat samjah me nahi aati hai

baat na karne wali shayari



 baat na karne wali shayari

एक वक्त था जब बाते ही

खत्म नहीं होती थी,

आज सबकुछ खत्म हो गया

मगर बात ही नहीं होती.

 

Ek waqt tha jab baate hi

Khatm nahi hoti thi

Aaj sabkuch khatm ho gaya

Magar baat hi nahi hoti


 

हर बात पर मुस्कुराना ही बेहतर है,

अब थप्पड़ तो हर किसी को मार नहीं सकते

 

Har baat par muskuraana hi behtar hai

Ab thappad to har kisi ko maar nahi sakte

baat na karne wali shayari-2



 

यकीन रखो इस बात पर,

जो तुम्हारा है वो तुम्हें ही मिलेगा

 

Yakeen rakho is baat par

Jo tumhara hai vo tumhe hoy milega


 

ना जाने ये कैसा तरीका है तुम्हारे प्यार करने का,

की तुम्हारा मन ही नहीं करता हमसे बात करने का।

 

Naa jane ye kaisa tarika hai tumhare pyaar karne ka,

Ki tumhara man hi nahi karta hamse baat karne ka

baat na karne wali shayari-3



 

तरस जाओगे मेरे लबों से कुछ सुनने को,

बात करना तो दूर हम शिकायत भी नहीं करेंगे।

 

Taras jaaoge mere labon se kuch sunne ko,

Baat karna to door ham shikayat bhi nahi karenge


 

नादान है बहुत वो, ज़रा समझाइए उसे,

बात करने से मोहब्बत कम नहीं होती।

 

Naadan hai bahut vo, jara samjhaaiye use,

Baat na karne se mohabbat kam nahi hoti

baat na karne wali shayari-4



 

ख्वाहिश--ज़िंदगी बस इतनी सी है अब मेरी,

कि साथ तेरा हो और ज़िंदगी कभी खत्म हो !

 

Khwaahish e jindagi bas itni si hai ab meri ki saath tera ho or Jindagi kabhi khatm na ho


 

बात नहीं करना तो बस एक बहाना है

सच तो यह है

कि तुम्हारा हमसे जी भर गया है !

 

Baat nahi karna to bas ek bahana hai

Sach to yah hai

Ki tumhara hamse ji bhar gaya hai

baat nahi karni shayari-2



 

मोहब्बत होती तुझसे,

ही दिल तुझसे चाहत रखता,

बस अच्छा लगता है,

जब तुम मुझसे बात करता!

 

Na mohabbat hoti tujhse

Na hi dil tujhse chaaht rakhta

Bas achha lagta hai

Jab tum mujhse baat karta


 

उससे ऐसा भी क्या रिश्ता हैदर्द कोई भी हो यादउसी की आती है !!

 

Usse Aisa bhi kya rishta hai

Dar koi bhi ho yaad usi ki aati hai

baat nahi karni shayari-3



 

हिचकियाँ कहती हैं कितुम याद करते होपर बात नहीं करोगे तोएहसास कैसे होगा !! -

 

Hichkiyan kehti hai ki Tum yaad karte ho

Pat baat nahi karoge to ehsaas kaise hoga


 

अरे कैसी मेरी मजबूरी है Callभी नहीं कर सकतादिल में दर्द बोहोत है लेकिन रोभी नहीं सकता !! -

 

Are kaise majoboori hai call bhi nahi kar sakta

dil me dard bahut hai ro bhi nahi sakta

baat nahi karni shayari-4



 

खुद का भी हाल देखने की

फुरसत नहीं है मुझे…..

और वो औरो से बात करने

का इलज़ाम लगा रहे है……

 

Khud ka bhi haal dekhnebko fursat nahi hai mujhe

Or vo auron se baat karne ka iljaam laga rahe hain


 

बदलना नहीं आता हमें मौसम की तरह,

हर एक रूप मैं तेरा इंतज़ार करता हूँ ,

ना तुम समझ सको कयामत तक,

कसम तुम्हारी तुम्हे इतना प्यार करते है .

 

Badalna nahi aata hamen mausam ki tarah

Har ek roop me tera intezaar karta hun

Naa tum samajh sako kayamat tak

Kasam tumhari tumhe itna pyaar karte hain

baat nahi karni shayari-5



 

मोहब्बत का कोई कसूर नहीं

उसे तो मुझसे रूठना ही था

दिल मेरा शीशे सा साफ़

और शीशे का अंजाम टूटना हे था

 

Mohabbat ka koi kasoor nahi tha

Use to mujhse ruthna hi tha

Dil mera sheeshe sa saaf

Or sheeshe ka anjaam tootna hi tha


 

कभी हमसे भी तो के मिलो,

कभी हमसे भी तो बात करो

दो लम्हा मिल के चले जाना

हमने कब कहा, यहीं रात करो

 

Kabhi hamse bhi to aake milo

Kabhi hamse bhi to baat karo

Do lamha mil ke chale jaana

Hamne kab kaha, yahin raat karo

baat nahi karni shayari-6



 

एक वक़्त था जब हर रोज़ मुलाकात हुआ करती थी,

अब तो खवाबों में भी उनसे बात नहीं होती है

 

Ek waqt tha jab mere har roj mulakat hua karti thi

Ab to khwaabon me bhi unse baat nahi hoti hai


 

मत किया कर -दिल किसी से इतनी मोहब्बत!

जो बातें नहीं करते वो प्यार क्या करेंगे?

 

Mat kiya kar e dil kisi se itni Mohabbat

Jo baaten nahi karte vo pyaar kya karenge


 

कुछ दिन बात ना करने से कोई बेगाना,

नहीं होता कोई भी दोस्त इतना पुराना,

नहीं होता दोस्ती में गिले-शिकवे तो चलते रहते हैं,

पर इसका मतलब दोस्तों को भुलाना नहीं होता

 

Kuch din baat na karne se koi begaana nahi hota

Koi bhi doston itna Purana nahi hota

Dosti me gile-shikwe to chalte rehte hai

Par iska matlab doston ko bhulana nahi hota

baat nahi hoti shayari-2



 

कितना फर्क हैं ना हम दोनो की चाहत में,

मुझे तुम्हे याद करने से फुर्सत नही और,

तुम्हे मुझे याद करने की फुर्सत नही

 

Kitna fark hai naa ham dono ki chahat me

Mujhe tumhe yaad karne bse fursat nahi aur tumhe mujhe yad krne ki fursat nahin


 

तुमसे ही रूठ कर, तुमको ही याद करते है

हमे तो ठीक से नाराज़ भी नही होने आता

 

Tumse hi ruth kar tumko hi yaad karte hian

hamen to thik se naaraz bhi nahi hone aata


 

जरूरी है रूठना और मनाना मोहब्बत में,

कहते हैं इश्क़ जवां इन्ही अदाओं से रहता है

 

Jaroori hak ruthna or manana mohabbat me,

Kehte hai iahq jawan inhi aadton se rehta hai


 

कुछ नशा तो आपकी बात का है

 कुछ नशा तो आधी रात का है हमे आप यूँ ही शराबी ना कहिये

 इस दिल पर असर तो आप से मुलाकात का है.

 

Kuch nasha to aapki baat ka hai

Kuch nasha to aadhi raat ka hai hame aap yun hi sharabi na kahiye

Is dil par asar to aapki mulakat ka hai


 

कितनी अजीब बात है की

जब हम गलत होते है तो समझौता चाहते हैं,

और दुसरे गलत होते है तो हम न्याय चाहते हैं .

 

Kitni ajeeb bat hai ki

Jab ham galat hote hain to samjhota chaahte hain

Or dusre galat hote hain to ham nyaay chaahte hain


 

मेरी पलकों की नमी इस बात की गवाह है,

 मुझे आज भी तुमसे प्यार बेपनाह है.

 

Meri palkon ki nami is baat ki gawah hai,

Mujhe aaj bhi tumse pyaar bepanah hai


 

कभी किसी से बात करने की आदत मत डालना,

क्यों की अगर वो बात करना बंद कर दे तो, दुबारा जीना मुश्किल हो जाता है।

 

Kabhi kisi se baat kane ki aadat mat dalna

Kyon ki agar vo baat karna band kar de to,

Dubara jeena mushkil ho jaata hai


 

इजाजत हो तो लिफ़ाफ़े में रखकर, कुछ वक़्त भेज दूँ

.. सुना है

कुछ लोगो को फुर्सत नहीं, बात करने की

 

Ijaajat ho to liffafe me rakh kar, kuch waqt bhej dun….

 Suna hai

Kuch logon ko fursat nahi, baat karne ki


 

ना जाने कब तुम कर, हमारे दिल मे बसने लगे,

 तुम पहले दोस्त थे,फिर प्यार,

फिर ना जाने कब ज़िंदगी बन गए|

 

Naa jane kab tum aa kar, hamare dil me basne lage,

Tum pehle dost the, fir pyaar, fir naa jane kab Jindagi ban gaye


 

मेरी पलकों के आंसू </