Type Here to Get Search Results !

Dua Dost Ke Liye Shayari | 2 Line Dosti Ke Liye Shayari

0

अगर आप “Dua dost ke liye shayari” ढूँढ रहे है तो आप सही वेबसाइट पे आय है, दोस्त के लिय में आपको shayari दूंगा अगर आप अपने दोस्त के लिय दुआ कर रहे है तो आप इस शायरी को उसे भेज सकते है, और अपने whatsapp और facebook से भी उसे send कर सकते है, आज में आपको,
2 line dosti ke liye shayari , dost ke liye shayari image इन shayari को आप अपने दोस्त को send कर दिगीय,
 

 

मेरा दिल जलाने वाले मेरा दिल जला के रॉय मुझे आजमाने वाले मुझे आजमा के रोये मेरे सामने से गुजरे मेरा हाल भी ना पुछा मैं यकीं करूं तो कैसे के वे दूर जाकर रोये 

भले ही किसी गैर की जागीर थीं वो पर मेरे ख्वाबों की भी तस्वीर थीं वो मुझे मिलती तो कैसे मिलती किसी और की हिस्से की तक़दीर थीं वो

पानी के बिना नदी बेकार है और अतिथि की बिना आँगन बेकार है प्रेम ना हो तो सगे सम्बब्धि बेकार है और जीवन में दोस्त न हो तो जीवन बेकार है

 दोस्ती के फूर हर मौसम में खिलते हैं दोस्ती जे बादल हर मौसम में बरसते हैं हम मिस यू कहे या न कहे ये सच है की हम रोज आप सबको दिल से याद करते हैं|
Dua Dost Ke Liye Shayari

कशमकश जिंदगी में सदा आती है सुकून के ही खातिर दुआ आती है|
हक़ में अपनी हम वफ़ा मांगते हैं शाम-ओ-शहर ये दुआ मांगते हैं।
Dost ke liye shayari image
जब भी हाथ उठा कर दुआ मांगते हैं तेरी ही खुशी बेइंतहा मांगते हैं

सब कुछ मांग लिया तुझ को खुदा से मांग कर उठते नहीं हैं हाथ मेरे इस दुआ के बाद
Dua Dost Ke Liye Shayari

मुद्दते हो गई है खता करते हुए अब तो शर्म आती है दुआ करते हुए

सच तो यह है की दुआ ने ना दावा ने रखा हमको जिन्दा तेरे दामन की हवा ने रखा

2 line shayari dost ke liye
Dua Dost Ke Liye Shayari


कोन कहता है कि दोस्ती बराबरी में होती है दोस्ती तो वह होती है जिसमें सब बराबर होते है

क्या पता उसको की वो मुझ को सजा देता है वो तो मासूम है मुझे जीने की दुआ देता है 

मुस्कुराना ही ख़ुशी नहीं होती उम्र बिताना ही ज़िन्दगी नहीं होती दोस्त को रोज याद करना पड़ता है दोस्ती कर लेना हीं दोस्ती नहीं होती
Dua Dost Ke Liye Shayari
गम को बेचकर खुशी खरीद लेंगे ख्वाबो को बेचकर जिन्दगी खरीद लेंगे होगा इम्तहान तो देखेगी दुनिया खुद को बेचकर आपकी दोस्ती खरीद लेंगे
सदा दूर रहो ग़म की परछाइयों से सामना न हो कभी तन्हाइयों से हर अरमान हर ख्वाब आपका पूरा हो यही दुआ है दिल की गहराइयों से
मुस्कुराना ही ख़ुशी नहीं होती उम्र बिताना ही ज़िन्दगी नहीं होती दोस्त को रोज याद करना पड़ता है दोस्ती कर लेना हीं दोस्ती नहीं होती
गम को बेचकर खुशी खरीद लेंगे ख्वाबो को बेचकर जिन्दगी खरीद लेंगे होगा इम्तहान तो देखेगी दुनिया खुद को बेचकर आपकी दोस्ती खरीद लेंगे 
Dua Dost Ke Liye Shayari
Apko hamari “Dua dost kr liye shayari kesi lagi agr acchi lagi to apne dosto ke sath share karna na bhule !

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ