Type Here to Get Search Results !

Dard E Judai Shayari in Hindi | Gham E Judai Shayari in Hindi

0

अगर आप Dard e judai shayari in hindi ढूँढ रहे है तो आप एक दम सही वेबसाइट पे आय है आज में आपको अच्छी से अच्छी shayari देने की कोसिस करूँगा, जेसे Dard e judai shayari 2 lines , dard e judai shayari image आप इन shayari को अपने whatsapp और facebook पे भी share कर सकते है, उम्मीद है आपको shayari पसंद आयगी,
 

याद में तेरी आहें भरता है कोई हर सांस के साथ तुझे याद करता है कोई मौत तो सच्चाई है आनी ही है लेकिन तेरी जुदाई में हर रोज मरता है कोई

उनकी तस्वीर को सीने से लगा लेते है इस तरह जुदाई का गम उठा लेते है किसी तरह ज़िक्र हो जाये उनका तो हंस कर भीगी पलकों को झुका लेते है

तेरी जुदाई भी हमें प्यार करती है तेरी याद बहुत बेकरार करती है वह दिन जो तेरे साथ गुज़ारे थे नज़रे तलाश उनको बार बार करती है

ये कैसी जुदाई है जिसने हमें शायर बना दिया ये कैसा गम है जिसने हमें बेबस बना दिया सोचा नहीं था जुदा हो जाओगे हमसे कभी करते भी क्या जब आप ने ही गैर बना दिया

Dard E Judai Shayari in Hindi

तेरी जुदाई का शिकवा करूँ भी तो किससे करूँ यहाँ तो हर कोई अब भी मुझे तेरा समझता हैं

ऐसा नहीं कि दिल में तेरी तस्वीर नहीं थी पर हाथो में तेरे नाम की लकीर नहीं थी

खूशबू की जंजीरो से सितारो की हदो तक इस शहर मे सब कुछ है सिर्फ तेरी कमी है

ना मेरी मोहब्बत बुरी थी ना मोहब्बत करने मैं बुराई थी वक़्त ने भी ऐसा खेल खेला की मेरी किस्मत मैं ही जुदाई थी

Dard E Judai Shayari in Hindi

तुमसे ना मिलने कि जुदाई का गम अब क्या करे जी लेंगे ज़िन्दगी दूर से ही अब यादो के सहारे जी लेंगे

उन से मोहब्बत हुई तो हमे इज़हार करना नही आया उसने मांगी भी तो क्या मांगी सिर्फ जुदाई हम करते भी तो क्या हमे इनकार करना नही आया

कितना भी चाहो ना भूल पाओगे हमें जितनी दूर जाओगे नजदीक पाओगे हमें मिटा सकते हो तो मिटा दो यादें मेरी मगर क्या सांसो से भी जुदा कर पाओगे हमें

आप को पाकर अब खोना नहीं चाहते इतना खुश होकर अब रोना नहीं चाहते ये आलम है हमारा आप की जुदाई में आँखों में है नींद पर सोना नहीं चाहते

Dard E Judai Shayari in Hindi

प्यार करते है तुमसे कितना कभी दिखा ना सके तुम क्या हो हमारे लिए ये कभी बता ना सके क्या हुआ जो आज तुम साथ नहीं हो फिर भी तुम्हारी किसी भी याद को भुला ना सके

ज़िक्र और फिकर करना छोड़ दो समझदार होगा तो आयेगा वरना भाड़ में जायेगा

सजदे में जिनकी खातिर हम सर झुकाया करते थे उनकी जुदाई ने हमें ही अपनी नजरों से गिरा दिया

सच में बिजी हो या फिर अब हम याद आने के काबिल भी नहीं रहें

Dard E Judai Shayari in Hindi

उसी को जीने का हक़ है जो इस ज़माने में इधर का लगता रहे और उधर का हो जाए

कितनी दिलकश हो तुम  कितना दिल जू हूँ मैं क्या सितम है की हम लोग मर जाएंगे

आज मुझ को बहुत बुरा कह कर आप ने नाम तो लिया मेरा
Dard E Judai Shayari in Hindi


apko hamari “Dard e judai shayari in hindi” kesi lagi agr acchi lagi to apne dosto ke sath share karna na bhule!
 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ